एक नजर देखने से स्त्री/पुरुष संभोग वशीकरण

स्त्री वशीकरण के टोटके/उपाय /मंत्र

वैसे तो वशीकरण के अनेक तरीके प्रचलित है जिनमे से उपाय /मंत्र कुछ सावर्जनिक रूप से है और कुछ बहुत ही गोपनीय एवम अति प्रभावशाली है. तंत्र, मंत्र तथा यंत्र के क्षेत्र में ही वशीकरण के कई अनेक अचूक और 100 प्रतिशत प्रमाणिक साधन अथवा उपाय उपलब्ध है. लेकिन हर प्रयोग में किसी न किसी विशेष विधि एवम नियम कायदों का पालन करना पड़ता है.

स्त्री सम्भोग वशीकरण मंत्र :-

ॐ क्तीं स: ‘ अमुक ‘ वश कुरू कुरू स्वाहा।

  • पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र में निम्बू की लकड़ी तोड़कर लाएं व धूप देकर उसे अपनी दांयी भुजा में बांध लें तो प्रत्येक स्त्री वशीभूत होगा।निम्बू , हल्दी , केसर इन सबको पीसकर स्त्री के मस्तक पर तथा पैर के नीचे डालने पर वह वशीभूत होती है।
  • छोटी इलाइची ,लाल चन्दन,सिंदूर,कंगनी,काकड़सिंगी आदि सामग्री को इकठा कर धूप बना दे व जिस किसी स्त्री के सामने लगातार ५ दिन धूप देंगे वह वशीभूत हो जाएगी|
  • कई बार पति किसी दूसरी स्त्री के चंगुल में आ जाता है तो अपना घर बचाने के लिए स्त्रियां यह प्रयोग कर सकती हैं| गुरुवार रात 11 बजे अपने पति के थोड़े से बाल काटकर जला दे व बाद में पर से मसल दे आवश्य ही जल्दी ही आपका पति आपके पास आ जायेगा|
  •  शुक्ल पक्ष के रविवार को 11 लॉन्ग शरीर में ऐसे स्थान पर रखे जहा पसीना आता हो व इसे सुखाकर चूर्ण बना कर दूध,चाय में डाल कर जिस किसी को पीला दी जाये तो वह वश में हो जाता है|

पुरुष वशीकरण का तरीका /उपाय /टोटका 

एक नजर देखने से स्त्री/पुरुष संभोग वशीकरण

जिन मंत्रों के द्वारा किसी भी प्राणी को, रिश्तों को अपने वश में किया जाए और अपनी कामना पूर्ण की जाए उसे वशीकरण कहते है। वशीकरण मंत्र का प्रयोग पति पर, पत्नी पर, मित्र पर, शत्रु पर या जिनसे आप कुछ काम निकलवाना चाहते है उस पर किया जा सकता है। अपने वशीभूत करने की यह प्रक्रिया “वश्य-कर्म” कहलाती है। वशीकरण की देवी, सरस्वती होती है। वशीकरण का प्रयोग अगर वसंत ऋतू में किया जाए तो बहुत ही अच्छा होता है। वशीकरण प्रातःकाल से कुछ समय पश्चात् उत्तर दिशा की ओर बैठकर किया जा सकता है। वशीकरण में लाल वस्त्र तथा हीरा, स्फटिक एवं अलग-अलग रत्नों की माला इसके लिए अनुकूल होती है। वशीकरण में राई, लवण का हवन बहुत ही अनुकूल होता है।

पुरुष सम्भोग वशीकरण मंत्र :-

“ॐ नमो भास्कराय त्रिलोकात्माने (अमुकं) श्रीपति में वश्यं कुरु-कुरु स्वाहा॥”

अमुकं मतलब – उस व्यक्ति का नाम जिसे आप वश में करना चाहते है।

इस मंत्र को 1008 बार जप कर कपूर, चंदन, तुलसी के पत्ते को गाय के दूध में घिसकर मस्तक पर तिलक लगायें। और उस इच्छित व्यक्ति से मिलें जिसको आप अपने वश में करना चाहते है। वह व्यक्ति तुरंत वशीभूत हो जाएगा।

पुरुष वशीकरण टोटके/उपाय :-

  •  यदि कोई व्यक्ति  आपको परेशान कर रहा है  एवं  आपके कार्यों में बाधा पहुंचा रहा है तो उस व्यक्ति को वशीकरण करने के लिए आप भोजपत्र का एक टुकड़ा ले और उस भोजपत्र के टुकड़े में अपने शत्रु का नाम या उस व्यक्ति का नाम सफ़ेद चंदन से लिख दे और शहद की डिब्बी में डुबोकर रख दे कुछ समय पश्चात वह व्यक्ति आपके वश में हो जाएगा एवं कभी परेशान नहीं करेगा ।
  •   किसी पुरुष को अपने वश में करने के लिए  काले कमल  एवं  दो  पंख भवरें के लेकर  पुष्करमूल एवं श्वेत काजल मिलाकर  पीस लेते हैं  उसको सुखाकर  चूर्ण बना लेते हैं  इस चूर्ण को  आप जिस भी पुरुष पर डालेंगे  वह आपके वशीभूत हो जाएगा एवं आपकी इच्छाओं की पूर्ति करने लगेगा
  •   इलायची सफ़ेद चंदन सिंदूर  कंकड़ सिंगी इकट्ठा कर धूप में सुखा लेते हैं  और उससे एक धूप का निर्माण करते हैं  इस धूप  को जलाकर जिस भी पुरुष या स्त्री के समक्ष लाया जाता है वह वशीभूत हो जाता है ।
  • तगर कूट हड़ताल हल्दी इनको समान भाग लेकर अपनी अनामिका उंगली की  कुछ रक्त की बूंदे मिलाकर तिलक करने से या बिंदी लगाने से आपके अंदर एक सम्मोहन शक्ति उत्पन्न हो जाती है एवं आप जिस भी व्यक्ति के सामने जाएंगे वह आपके वशीभूत हो जाएगा
  •  पूर्व फाल्गुनी नक्षत्र में  एक केले की लकड़ी को तोड़ कर  धूप देखकर सुखाकर  उसको  किसी दिन विधि विधान से पूजा कर  अपनी बाईं भुजा में धारण करने से आप किसी भी व्यक्ति को अपने वशीभूत कर सकते हैं यह आपके अंदर एक सम्मोहन शक्ति उत्पन्न कर देगा
Scroll to Top