गुलाल से वशीकरण करने के होली के टोन-टोटके | Vashikaran Tips

होली :- तंत्र-मंत्र और टोने-टोटके

दीपावली की तरह होली का महत्व भी तंत्र-मंत्र और टोने-टोटके के मामलों में कम लोग ही जानते हैं। सभी लोग जब होली के हुडदंग में डूबे होते हैं और चहुंओर मस्ती का आलम होता है, तब गुमनाम और सुनसान जगहों पर तंत्र-मंत्र से टोटकों की होली खेली जा रही होती है। इस होली में लाल, हरे, नीले, पीले रंग नहीं बल्कि देशी पान के पत्ते, काले तिल, सिंदूर, कपूर, नारियल, नीबू, लाल मिर्च आदि होते हैं। “गुलाल से वशीकरण करने के होली के टोन-टोटके” तांत्रिकों की दुनिया में दीपावली की तरह होली पर भी टोने-टोटके की परंपरा चल पडी है। होलिका दहन से पूर्व के समय को तांत्रिक सिद्ध मानते हैं।

पूर्णिमा को प्रात: से रात्रि 12 बजे तक तांत्रिक विभिन्न प्रकार के तंत्र और मंत्रों को सिद्ध करके अपना और जातकों का कल्याण करते हैं। होली के दिन तांत्रिक तंत्र-मंत्र को सिद्ध करने के लिए पूरे दिन पूजा, पाठ, हवन आदि करते हैं। पीडितों की मांग पर टोटके आदि किए जाते हैं। तांत्रिक प्रक्रिया में दीपावली की तरह पशु-पक्षियों अथवा उनके अंगों का उपयोग नहीं किया जाता, बल्कि वनस्पति और अन्य सामग्री से उतारा आदि किए जाते हैं। होली और श्मशान की राख होली पूर्णिमा की रात को अनिष्टकारी कायोंü लिए उपयुक्त माना जाता है।

गुलाल से वशीकरण करने के होली के टोन-टोटके | Vashikaran Tips

तंत्र-मंत्र की दुनिया से जुडे लोग कहते हैं कि समाज में आज भी ईष्र्यालु लोगों की कमी नहीं है। व्यावसायिक प्रतिस्पर्धा वाले कुछ लोग एक-दूसरे के पतन के लिए टोने-टोटके करवाते हैं। इसमें होली और श्मशान की राख का खास तौर पर उपयोग किया जाता है। दिशाएं बताती हैं, इसी क्रम में दशा मान्यता है कि होलिका दहन के समय उसकी उठती हुई लौ से कई संकेत मिलते हैं। पूरब की ओर लौ उठना कल्याणकारी होता है, “गुलाल से वशीकरण करने के होली के टोन-टोटके” दक्षिण की ओर पशु पी़डा, पश्चिम की ओर सामान्य और उत्तर की ओर लौ उठने से बारिश होने की संभावना रहती है।

व्यापार बढाने के लिए

इस बार होली रविवार को है। शनिवार को ऎसे पे़ड के नीचे जाए जिस पर चमगादड लटकती हो उस पेड की एक डाल को निमंत्रण दे कि कल हम तुम्हें ले जाएंगे। होली वाले दिन सूर्योदय से पूर्व उस डाल को तोडकर ले आए। “गुलाल से वशीकरण करने के होली के टोन-टोटके” रात को उस डाल एवं उसके पत्तों का पूजन कर अपनी गद्दी के नीचे रखें। व्यवसाय खूब फलेगा-फूलेगा।

पौरूषत्व प्राप्ति के लिए-

जंगली कबूतर की बीट लाकर उसे तेल में मिला लें तथा रात को उसे सामने रखकर रात्रि में निम्न मंत्र का जाप करें- ऊँ कामाय नम: तथा इस तेल की मालिश करने से पुरूषेंद्रिय शक्तिशाली होती है।

धन में वृद्धि हेतु मंत्र

ऊँ नमो धनदाय स्वाहा होली की रात इस मंत्र का जाप करने से धन में वृद्धि होती है।

रोग नाश हेतु
ऊँ नमो भगवेत रूद्राय मृतार्क मध्ये संस्थिताय मम शरीरं अमृतं कुरू कुरू स्वाहा इस मंत्र का होली की रात जाप करने से कैसा भी रोग हो नाश हो जाता है।

“गुलाल से वशीकरण करने के होली के टोन-टोटके”

शीघ्र विवाह हेतु
– होली के दिन सुब एक साबूत पान पर साबूत सुपारी एवं हल्दी की गांठ शिवलिंग पर चढाएं तथा पीछे पलटे बगैर अपने घर आ जाएं यही प्रयोग अगले दिन भी करें। अतिशीघ्र विवाह हो जाता है।

– गोरखमुण्डी का पौधा लाकर उसको धोकर होली की रात उसका पूजन करें फिर उसको होली की अग्नि में सुखा दें तथा पांच दिन सूखने दे पंचमी के दिन उसको पीसकर चूर्ण बना लें। यह चूर्ण कई प्रयोग में आता है।  “गुलाल से वशीकरण करने के होली के टोन-टोटके”
– सुबह शाम इस चूर्ण को शहद से चाटने पर स्मरण एवं भाषण शक्ति बढती है।
– दूध के साथ इस चूर्ण का सेवन करने से शरीर स्वस्थ और बलिष्ठ होता है। इस चूर्ण के पानी से बाल धोने पर बाल लंबे और काले घने होते हैं। इस चूर्ण के तेल से शरीर की ऎंठन, जकडन दूर होती है।

ऎसे बचें टोटकों से
– टोने-टोटके के लिए सफेद खाद्य पदाथोंü का उपयोग किया जाता है। होलिका दहन वाले दिन सफेद खाद्य पदाथों के सेवन से बचना चाहिये।
– उतार और टोटके का प्रयोग सिर पर जल्दी होता है, इसलिए सिर को टोपी आदि से ढके रहें।
– टोने-टोटके में व्यक्ति के कपडों का प्रयोग किया जाता है, इसलिए अपने कपडों का ध्यान रखें।
– होली पर पूरे दिन अपनी जेब में काले कपडे में बांधकर काले तिल रखें। “गुलाल से वशीकरण करने के होली के टोन-टोटके” रात को जलती होली में उन्हें डाल दें। यदि पहले से ही कोई टोटका होगा तो वह भी खत्म हो जाएगा

अगर नौकरी नहीं मिल रही या कार्यस्थल पर परेशान चल रहे हैं तो 8 निम्बू लेकर उसे 21 बार खुद के ऊपर से उतारे और जाकर होलिका में चढ़ा दे। इसके बाद 8 परिक्रमा करके मन ही मन नौकरी के लिए प्रार्थना करे।
यदि व्यापार सही नहीं चल रहा है तो होलिका की विधिवत पूजा कर नारियल, पान तथा सुपारी भेंट करें। तत्पश्चात होलिका की 108 परिक्रमा कर मन ही मन अपनी मनोकामना बोले तथा चुपचाप बिना किसी से बात करे घर आ जाएं। अगले दिन सुबह वापस जाकर होलिका की थोड़ी सी राख ले आएं तथा उसे लाल कपड़े में स्फटिक के श्रीयंत्र तथा चांदी के सिक्के के साथ बांध कर अपनी तिजोरी में रख दें।
यदि किसी नजदीकी पर वशीकरण प्रयोग किया गया है तो यह उपाय करें। “गुलाल से वशीकरण करने के होली के टोन-टोटके” होलिका की विधिवत पूजा कर गुलाब के फूल अर्पित करें। फिर इसमें से एक गुलाब का फूल तथा थोड़ी सी राख लें ले। एक पान में गुलाब की 7 पंखुड़ी डाल कर 1 चुटकी राख डालें तथा पीड़ित व्यक्ति को खिला दें, तुरंत वशीकरण टूट जाएगा।
होली की रात को भगवान शिव का अभिषेक करते हुए ऊँ नमः शिवाय मंत्र से जाप करें तथा मन ही मन अपनी मनोकामना की पूर्ति हेतु प्रार्थना करें। आपकी मनोकामना तुरंत पूरी होगी।
होली के टोने-टोटके करते समय इन बातों का ध्यान रखें-
(1) कभी भी कोई भी प्रयोग किसी को नुक्सान पहुंचाने के लिए नहीं होना चाहिए।
(2) शराब, ड्रग्स या अन्य किसी भी प्रकार की नशीली पदार्थो का सेवन होली के अवसर पर नहीं करे।
(3) किसी के भी खिलाफ कोई हिंसक कार्य नहीं करें।

यदि किसी व्यक्ति ने आपका धन मार लिया है या आपका धन लेकर वापस नहीं कर रहा है तो जिस जगह होली का दहन हो रहा हो तो वहां पर एक अनार की लकड़ी पर उस आदमी का नाम लिखकर उसके ऊपर हरा गुलाल डालकर होलिका में डाल दें और धन वापस पाने की होलिका माता से प्रार्थना करें आपका धन अतिशीघ्र वापस मिल जाएगा ।

1- वास्तु दोष से मुक्ति पाने के लिए होलिका दहन के अगले दिन सर्वप्रथम उठकर स्नान कर स्वच्छ होकर अपने इष्टदेव को गुलाल अर्पित करें और अपने इष्ट देव का निवास स्थान ईशान कोण में रख कर पूजन करें यह उपाय करने से ग्रह दोष वास्तु दोष समाप्त हो जाता है और घर में शांति सुख सुविधा धनेश्वरी की वर्षा होती है ।

2- यदि आपको हर कार्य में बार बार आर्थिक हानि का सामना करना पड़ता है और धन की कमी होती रहती है तो होलिका दहन की शाम को आप अपने घर के मुख्य द्वार पर गुलाब छिड़ककर आटे का दो मुखी दीपक बनाकर जलाना चाहिए इस दीपक को जलाने से आर्थिक हानि दूर हो जाती है और मानसिक रुप से संतुष्टि मिलती है ।

3- अगर व्यापार में वृद्धि नहीं हो रही है तो होली के पहले पड़ने वाले शनिवार को एक पेड़ ढूंढ ले जहां चमगादड़ निवास करते हो और उस पेड़ की डाली को सूर्योदय से पूर्व तोड़ ले रात में पूजन के कुछ समय बाद उस टहनी के पत्तों को तोड़कर अपनी गद्दी या तिजोरी के नीचे रखना चाहिए व्यवसाय में खूब वृद्धि होगी और धन प्राप्ति होगी ।

होली पर वशीकरण तांत्रिक प्रयोग से बचाव –

1-यदि आपको प्रतीत होता है कि किसी ने आपके ऊपर तांत्रिक प्रयोग करवाया है या कोई टोटका तंत्र मंत्र का प्रयोग आपके ऊपर किया गया है तो होली दहन के समय देसी घी में दो लौंग एक पान के पत्ते में रख कर उसमें थोड़ी मिश्री मिलाकर इन सभी वस्तुओं को होली के जलते समय डाल दें और अगले दिन होली की राख को एक चांदी के ताबीज में भरकर गले में धारण कर लें आपके ऊपर किए गए तांत्रिक मंत्र तंत्र प्रयोग निष्क्रिय हो जाएंगे और आपके ऊपर पुनः कोई प्रयोग काम नहीं होगा ।

2- होली के दिन टोना करने के लिए सफेद खाद्य पदार्थों का प्रयोग किया जाता है अतः होलिका दहन वाले दिन सफेद खाद्य पदार्थों का सेवन किसी के द्वारा दिए जाने पर नहीं करना चाहिए

3- टोना टोटके का प्रयोग सबसे अधिक सर पर होता है सर को हमेशा ढक कर रखना चाहिए खासकर होली के दिन।

4- किसी भी टोने टोटके से बचने के लिए होली पर पूरे दिन आप अपने जेब में काले कपड़े में 3लौंग बांध कर रखें और जलती हुई होली में उसे डाल दे यदि पहले से कोई टोटका होगा तो वह खत्म हो जाएगा ।

होली में वशीकरण –

होली में किया गया वशीकरण अत्यंत प्रभावशाली होता है यदि किसी के ऊपर वशीकरण किया जाता है तो वह पूर्णतः सफल होता है

वशीकरण समाप्त करना –

यदि किसी व्यक्ति के ऊपर वशीकरण किया गया हो या उच्चाटन सम्मोहन आदि क्रियाएं की गई हो तो उस व्यक्ति को होलिका की राख दूसरे दिन लाकर पूरे शरीर में लगा कर गर्म जल से स्नान करना चाहिए वशीकरण का प्रभाव समाप्त हो जाता है और व्यक्ति वशीकरण एवं अन्य टोने टोटके जादू आदि से मुक्त हो जाता है ।

वशीकरण-

यदि आपको अपने पति को अपने वश में करना है और दूसरी स्त्री से उसका प्रेम समाप्त करवाना है तो होली के दिन होलिका में सात गोमती चक्र लेकर सात बार प्रक्रिमा करें और प्रत्येक परिक्रमा में एक एक गोमती चक्र अपने पति का नाम लेते हुए डाल दें आपके पति आपके वश में हो जाएंगे और दूसरी पत्नी या दूसरी स्त्री का परित्याग कर देंगे ।

धन के लिए

ॐ नमोहः धनदायः स्वाहः

इस मंत्र को जपने से धन वृद्धि होती है इस मंत्र का जप होली की रात्रि में करना चाहिए ।

रोग समाप्त के लिए

ॐ नमोहः भगवतः रुद्रः मार्तकः माधयः संस्थितायः मम शरीर् अमृतः कुरू कुरू स्वाहः

होलिका की परिक्रमा करते समय इस मंत्र के जपने से रोग से मुक्ति हो जाती है

कोई स्त्री कुंवारी हो या फिर व्याहता उसे आकर्षित करने या कहें कि मोहित करने के लिए सरल रूप वाले साबर मंत्र का प्रचलन भी सदियों से रह है। इनसे आत्मीय संतुष्टी मिलती है और उस स्त्री के प्रति मानसिक संतुलन कायम होता है। यहां दिए मंत्र उपयोगी साबित हो सकते हैं।

ओमनमो काला भैरूं,

काली रात, काला चाल्या आध् रात, काला रेत मेरा वीर,

पर नारी के राखे सीर, बेगी जा छाती ध्र ला,

सूती हो जो जगाय ला, शब्द सांचा पिण्ड कांचा पफूरो मंत्रा ईश्वरी वाचा।

इस स्त्री वशीकरण मंत्र को पहले किसी पर्वकाल, होली, दीवाली या ग्रहण पर सिद्ध कर लिया जाता है। उसके बाद इन्हीं में किसी एक मौके पर या रविवार को पुष्य नक्षत्र में अरंड की सूखी डाल को एक झटके में तोड़ लाएं। उसकी काजल बनाएं। फिर उस काजल को मंत्रोच्चारण के साथ साध्य औरत की शरीर पर कहीं भी लगा दें। एसा करने पर उक्त स्त्री को वशीभूत किया जा सकता है।

दूसरे मंत्र के रूप में इसे भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

जल मोहूं, थल मोहूं, जंगल की हिरणी मोहूं,

बाट चलंता बटोही मोहूं, कचहरी बैठी राजा मोहूं,

पीढ़ा बैठी रानी मोहूं, मोहनी मेरा नाम,

मोहूं जग संसार, तारा तरीला तोतला तीनों बसैं कपाल,

मस्तक बैठी मात के दुश्मन करूं पामाल,

मेरी भक्ति गुरु की शक्ति पुफरो मंत्रा ईश्वरी वाचा।

इस स्त्री वशीकरण मंत्र को भी प्रयोग से पहले 21 दिनों तक सिद्ध किया जाता है। इसकी शुरुआत शनिवार से कि जाती है तथा आधी रात के समय तक नित्य जाप किया जाता है। हर मंत्र के साथ अग्निी में गुगल की आहूति दी जाती है। इसके प्रयोग के समय किसी मिठाई पर मंत्र को 21 बार पढ़कर स्त्री को खिला देने से वह वशीभूत हो जाती है

Scroll to Top
call now

Get Help Now

whatsapp now