चावल से वशीकरण करने के टोटके

चावल को अक्षत कहा जाता है। अक्षत का अर्थ होता है अखंडित। चावल को पूर्णता का प्रतीक और देवताओं का भोग माना गया है। हमारी श्रद्धा और भक्ति खंडित ना हो, सदैव बढ़ती जाए इसीलिए चावल भगवान को अर्पित किए जाते हैं। भारत में किसी को आशीर्वाद देते वक्त कहा जाता है- धन और धान्य से संपन्न हो। इसमें धान्य का अर्थ चावल से ही होता है।

इसे धान भी कहते हैं। यह चार रूप में होता है: ब्राउन, रेड, ब्लैक और वाइट चावल। जब धान को कूट कर उसके छिलके को अलग कर दिया जाता है तो हमें ब्राउन राइस प्राप्त होता है। यह सुनहरे या भूरे रंग का होता है। चमकीले काले चावलों को जब पकाया जाता है, तो वे पर्पल रंग में बदल जाते हैं।

चावल से वशीकरण कैसे करें?

हिन्दू धर्म में चावल का बहुत महत्व है। इसी वजह से हर तरह की पूजा में चावल का प्रयोग किया जाता है। कोई भी पूजा, यज्ञ आदि अनुष्ठान बिना चावल के पूर्ण नहीं हो सकता। चावल अर्थात अक्षत का मतलब जिसका क्षय नहीं हुआ है। हिन्दुओं में किसी भी शुभ कार्यों पर माथे पर रोली के साथ चावल लगाकर तिलक किया जाता है।

भारत विश्व में चीन के बाद चावल का दूसरा बड़ा उत्पादक देश है। दुनियाभर में चावल की 40 हजार प्रजातियां हैं। जिसमें से 4 हजार किस्मों का व्यापारिक उत्पादन होता है। जैसे उत्तर भारत में गेहूं का उपयोग अधिक होता है उसी तरह दक्षिण भारत में चावाल प्रतिदिन के भोजन में शामिल है। भारतीय अपने दैनिक भोजन में चावल को प्राथमिकता देते हैं। विशेषत: भारत के पूर्व और दक्षिण में रहने वाले लोगों का मुख्य भोजन चावल

चावल का वशीकरण मंत्र:-

” ॐ ह्रीं कात्यायन्यै स्वाहा

ह्रीं श्रीं कात्यायन्यै स्वाहा “

चावल के दाने से वशीकरण करने की सामग्री :-

  • कोरा कागज
  • गुलाब जल
  • लाल पैन
  • चावल का एक दाना
  • शमशान की राख
  • गुलाब जल की बोतल

चावल से वशीकरण कैसे करें विधि :-

आपको एक कोरे कागज पर जिस व्यक्ति को वश में करना है उसका नाम लिखना है |इसके बाद शमशान की राख कागज पर डालें |इसके बाद चावल को अपने दाहिने हाथ में पकड़े और ऊपर दिए हुए चावल से वशीकरण करने के मंत्र को 108 बार पढ़ें |वश में करने का मंत्र पढ़ने के बाद दाहिने हाथ पर फूंक मारें और चावल को कागज के ऊपर रख दे |

अब आपको चावल और शमशान की राख को कोरे कागज से लपेट लेना है |यह कागज गुलाब जल की बोतल में डाल कर किसी अनजान जगह पर पेड़ के नीचे छुपा दे |कुछ ही दिन में आप जिसे वश में करना चाहते हैं वह व्यक्ति आपके वश में होगा और जैसा आप कहोगे वह व्यक्ति वैसा ही करेगा |

हिन्दू शास्त्रो मे चावल का महत्व

हिंदू शास्त्रों अनुसार चावल को बहुत महत्व धन्य माना जाता है | चावल को हिंदी में अक्षत भी कहते हैं | हिंदू शास्त्रों अनुसार चावल अखंडित होने का प्रतीक है | आप जो भी शुभ कार्य करें उसमें चावल होने से कार्य संपन्न और सफल रूप से पूरा होता है |

देवी देवताओं को भी चावल से बने प्रसाद का भोग चढ़ाया जाता है और जब भी किसी व्यक्ति पर टीका करते हैं इसके बाद चावल लगाते हैं जिससे उस व्यक्ति का सारा दोष निकल जाता है और आगे का सफर सफलतापूर्वक हो ऐसा माना जाता है | आज हम चावल से जुड़े चावल के टोटके चावल के चमत्कारी उपाय बताने वाले हैं |

चावल से धन प्राप्ति के उपाय

  • सोमवार के दिन शिव मंदिर जाकर शिवलिंग पर पानी और चावल के कुछ दाने अर्पण करें |
  • इसके बाद बचे हुए चावल को किसी गरीब को दान करें |
  • दरिद्रता पैसे की समस्या या धन प्राप्ति के उपाय के लिए चावल का दान विशेष दान होता है और आपको हर सोमवार को ऐसा करना है |
  • इस चावल के टोटके से दरिद्रता कर्ज पैसे की समस्या दूर होगी |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top