मुकदमा / कोर्ट केस जितने का ज्योतिष उपाय /टोटका

मुकदमा / कोर्ट केस जितने का ज्योतिष उपाय /टोटका

, कोर्ट केस जीतने के उपाय, मुकदमा / कोर्ट केस जितने का ज्योतिष उपाय- दुनिया में शायद ही कोई ऐसा मनुष्य होगा जिसे कोर्ट-कचहरी के मामलों में पड़ना रास आता हो| परंतु, मुसीबत पूछकर नहीं आती| अनचाहे-अनजाने में कई बार दूसरों की जमीन पर नज़रें गड़ा बैठने वाले लोगों के वजह से, कभी पारिवारिक अनबन की वजह से तो कभी जानकारी के अभाव में लोग कोर्ट केस में फंस जाते हैं| एक बार किसी मामले में कोर्ट का चक्कर लग जाए, फिर तो तारीख दर तारीख इंसान उसके साथ घिसटता चला जाता है| अपने देश में न्याय प्रणाली भी कुछ इस तरह से काम करती है कि छोटे से मामले में भी फैसला आने में वर्षो लग जाते हैं| ज्योतिष शास्त्र में ऐसी समस्याओं के लिए समाधान की चर्चा भी की गई है| इसके अंतर्गत कुछ छोटे-छोटे उपाय भी किए जा सकते हैं जिसे हम समान्यतः टोटका कहते हैं, इसके अलावा इस समस्या से निजात के लिए कुछ विशेष मंत्र तथा यंत्र भी हैं| पीड़ित व्यक्ति अपनी रुचि तथा सुविधा से इनमे से कोई उपाय चुन सकता है|

मुकदमा / कोर्ट केस जितने का ज्योतिष उपाय /टोटका

मुकदमा में विजय प्राप्ति के लिए उपाय/टोटका

यदि आप भी ऐसे ही किसी मामले के तहत कोर्ट के चक्कर में फंस चुके हैं तो ज्योतिष शास्त्र में वर्णित निम्नलिखित टोटकों की मदद से जल्द निकल सकते हैं 

  • सुनवाई के लिए जाते समय अपने साथ मुट्ठी भर चावल लेकर जाएँ और उन्हें कचहरी में बाई ओर कहीं फेंक दें, जिस कक्ष में सुनवाई हो रही हो, ध्यान रखें ऐसा करते समय कोई देखे नहीं|
  • सूर्योदय से पहले चावल के 51  दाने लेकर ,उसे बीज मंत्र ‘क्रीं’ का 51 बार जाप करें तथा उसे अपने घर में उतर दिशा में लाल  कपडे में बांध कर फेंक दें|
  • एक नारियल ले , उसे एक मुठी तिल के साथ लाल कपडे में बंद कर किसी उजाड़ स्थान पर रख आए, ध्यान रखें पीछे मुड़कर नहीं देखना है|
  • कचहरी जाते समय लौंग के तीन साबुत दानो को शक्कर के साथ मिलकर मुंह में रख लें|
  • किसी सफ़ेद रुमाल में थोड़ा सा कोयला और तिल बांधकर रख लें और उसे किसी सुनसान स्थान पर रख आएँ| घर वापस आकार नहा लें| यह कार्य मास में एक दिन 6 महीने तक लगातार करना चाहिए|
  • शुक्ल पक्ष के मंगलवार को हनुमान मंदिर में पीतल की घंटी चढ़ाएँ तथा प्रार्थना करें|
  • यदि आपका धैर्य जवाब दे गया हो, गवाह के मुकरने की आशंका हो अथवा अपने वकील की योगिता संदिग्ध लगे तो कचहरी जाते समय अपने साथ हत्था जोड़ी लेकर जाए|
  • मुकदमे में सफलता प्राप्त करने के लिए अपने केस की पैरवी कर रहे वकील को कलम उपहार में दें
  • कचहरी जाते समय लाल कनेर के फूल को पीसकर उससे तिलक लगाएँ
  • नीबू के चारो कोनो पर चार लौंग गाड़ दें, अपने इष्ट देव से मुकदमे में सफलता हेतु प्रार्थना करें| तथा उस नीबू को कचहरी जाते समय अपने साथ रखें|
  • लाल तिकोना मूंगा सोने अथवा तांबे में अंगुठी बनवाकर अपनी सबसे छोटी उंगली में पहनें|
  • अपने केस से जुड़े कागजात घर के मंदिर में ही रखें|
  • पहली बार कचहरी से लौटते समय किसी मजार पर लाल गुलाब अर्पित करते हुए मन ही मन केस में सफलता दिलाने की प्रार्थना करें|
  • कचहरी जाते समय सफ़ेद रंग की पोशाक पहने|
  • किसी मंदिर में 21 हकीक के पत्थर चढ़ाएँ तथा प्रार्थना करें|
  • भोजपत्र पर जिस व्यक्ति से मुकदमा लड़ रहे हों उसका नाम रक्त चन्दन से लिखें और शहद की शीशी में डूबाकर 11 दिन तक रख दें| इस टोटके से शत्रु का हृदय परिवर्तन हो जाता है|
  • घर के पूजा स्थल में सिद्धि विनायक पिरामिड स्थापित करें व प्रत्येक बुधवार को ‘गण गणपतये नमो नमः’ मंत्र का नियमित रूप से जाप करें| कचहरी जाते समय पिरामिड को लाल कपड़े में लपेटकर अपने साथ रखेऔर उन्हें पीपल में चढ़ा दे |
  • यदि पराजय की संभावना निश्चित प्रतीत हो रही हो तो अपने वजन के बराबर चावल बहते हुए पानी में बहाकर, ईश्वर से पिछले जन्म के पापपूर्ण कर्मो के लिए क्षमा प्रार्थना करें|
  • दो दुकानों से 21 फल खरीदें तथा कुंवारी कन्याओं में बराबर-बराबर बाँट दें|
  • सवा किलो मसूर की दालऔर हल्दी की गांठ रात को सोते समय अपने सिरहाने रखें, सुबह उसे जमादार को दे दें|

एक मास तक निरंतर जाप करने से यह मंत्र सिद्ध हो जाता है। सुनवाई के दिन इस मंत्र को सात बार पढ़कर कचहरी जाएँ| मुकदमे में जीत निश्चित है|

: ॐ क्रां क्रां क्रां धूम्रसारी बदाक्षं विजयति जयति ओं स्वाहा।

Scroll to Top